कलेक्टर ने किया तुरेनार, धुरगुड़ा और लालबाग के गौठानों का आकस्मिक निरीक्षण

 

कलेक्टर ने किया तुरेनार, धुरगुड़ा और लालबाग के गौठानों का आकस्मिक निरीक्षण

व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के दिये निर्देश

जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित सात अधिकारियों से मांगा स्पष्टीकरण

धुरगुड़ा की सचिव का बदला जाएगा प्रभार

जगदलपुर, /कलेक्टर श्री रजत बंसल ने आज बरसते पानी में तुरेनार, धुरगुड़ा और जगदलपुर के लालबाग़ स्थित गौठानों का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी, सहायक कलेक्टर सुश्री सुरुचि सिंह भी मौजूद थीं। उन्होंने इन गौठानों में मौजूदा व्यवस्थाओं का जायजा लेने के साथ ही गौठान समिति के सदस्यों से भी बातचीत की और इन्हें बेहतर करने के संबंध में चर्चा की। उन्होंने इन गौठानों में खाद की आवक, वर्मी कम्पोस्ट निर्माण और इसकी विक्रय के संबंध में जानकारी ली।
कलेक्टर ने तुरेनार गौठान में निर्मित शेडों का उपयोग आजीविकामूलक कार्यों के लिए करने के निर्देश दिए। उन्होंने यहां आजीविकामूलक कार्यों में तेजी लाने के लिए राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन और मनरेगा के अधिकारियों को निर्देशित किया। कलेक्टर ने स्वीकृत कार्यों के अपूर्ण होने पर गहरी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश देते हुए जगदलपुर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, मनरेगा और राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के सहायक परियोजना अधिकारी, मनरेगा के कार्यक्रम अधिकारी एवं तकनीकी सहायक व ग्राम पंचायत के सचिव से स्पष्टीकरण मांगा है। धुरगुड़ा ग्राम पंचायत में निर्मित गौठान में शेड निर्माण का कार्य अधूरा पाया गया। इसके लिए कलेक्टर ने जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व ग्रामीण क़ृषि विस्तार अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगा है। वहीं पंचायत सचिव की कार्य के प्रति उदासीनता को देखते हुए तत्काल हटाने के निर्देश दिए हैं। जगदलपुर नगरीय निकाय क्षेत्र में लालबाग स्थित गौठान के निरीक्षण के दौरान उन्होंने यहां समिति की सदस्यों को सक्रिय करने के निर्देश दिए, जिससे यहां अधिक से अधिक मात्रा में वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण किया जा सके और यहां कार्यरत महिलाओं की आर्थिक स्थिति को सुधारा जा सके।

लालबाग़ और धुरगुड़ा के गौठानों को बनाया जाएगा आदर्श गौठान
कलेक्टर श्री बंसल ने जगदलपुर के लालबाग़ और धुरगुड़ा के गौठानों को आदर्श गौठान बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट के साथ ही मछलीपालन, मुर्गीपालन, पशुपालन, फेंसिंग निर्माण, पेवर ब्लॉक निर्माण, राइस मिल जैसी अन्य गतिविधियों का संचालन किया जाए, जिससे यहां के युवाओं को रोजगार प्राप्त हो। उन्होंने इन गौठान समिति के सदस्यों की नियमित बैठक आयोजित करने के साथ ही लेखा जोखा का ब्यौरा रखने के निर्देश भी दिए।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *