छत्तीसगढ़ सरकार किसानों की गोबर खरीदकर उनकी आमदानी बढ़ाने वाला देश का पहला सरकार-प्रभारी मंत्री लखमा

 

छत्तीसगढ़ सरकार किसानों की गोबर खरीदकर उनकी आमदानी बढ़ाने वाला देश का पहला सरकार-प्रभारी मंत्री  लखमा

धुरगुड़ा गौठान एवं कुम्हड़ाकोट में पहुंचकर वृक्षारोपण समारोह में हुए शामिल

जगदलपुर, /जिले के प्रभारी मंत्री एवं वाणिज्यकर, आबकारी एवं उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार किसानों की गोबर खरीदकर उनकी आमदानी बढ़ाने वाले देश का पहला सरकार है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार पशुधन एवं गोबर के महत्व को समझते हुए गोधन न्याय योजना संचालित किया है। जिसके माध्यम से हमारी सरकार पशुधन की संरक्षण एवं संवर्धन के अलावा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत कर किसानों को समृद्ध बनाने का कार्य कर रही है।
प्रभारी मंत्री श्री लखमा ने जगदलपुर विकासखण्ड के आमचो गाय गौठान ग्राम धुरगुड़ा में आयोजित वृक्षारोपण समारोह में यह बातें कहीं। उन्होंने इस अवसर पर स्कूली बच्चों को सरस्वती सायकल योजना के तहत निःशुल्क सायकल, पाठ्य पुस्तक एवं किसानों को खाद-बीज का वितरण किया। इसके साथ ही वरिष्ठ नागरिकों को शाल एवं श्रीफल से सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि श्री लखमा अपने जगदलपुर प्रवास के दौरान ग्राम धुरगुड़ा के अलावा जगदलपुर के कुम्हड़ाकोट में आयोजित वृक्षारोपण समारोह में शामिल होकर फलदार वृक्षों का रोपण किया। इस अवसर पर सांसद दीपक बैज, संसदीय सचिव रेखचंद जैन, हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष चंदन कश्यप, बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विक्रम मंडावी, महापौर श्रीमती सफीरा साहू, नगर निगम की सभापति श्रीमती कविता साहू उपस्थित थे।
इस अवसर पर मंत्री श्री लखमा ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित और समृद्ध करने के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा नरवा, गरुआ, घुरवा एवं बाड़ी योजना का संचालन किया जा रहा है, जो किसानों की समृद्धि का आधार और बहुउपयोगी केन्द्र के रुप में विकसित होगा। इस अवसर पर सांसद श्री दीपक बैज, संसदीय सचिव श्री रेखचंद जैन ने छत्तीसगढ़ शासन द्वारा समाज के हर वर्ग के उत्थान के लिए किए जा रहे कार्यों के संबंध में जानकारी दी। इस अवसर पर वन मंडलाधिकारी सुश्री स्टायलो मंडावी, अपर कलेक्टर श्री अरविंद एक्का सहित जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या मंे ग्रामीण उपस्थित थे।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *