स्टाॅप डैम को लेकर इन दिनों सुकमा सुर्खियों में है

स्टाॅप डैम को लेकर इन दिनों सुकमा सुर्खियों में है

 

सुकमा जिले में कई स्टाॅप डैम निर्माण कराया गया है स्टाॅप डैम को लेकर इन दिनों सुकमा सुर्खियों में है कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी मिला बना स्टाॅप डैम भ्रष्टाचार का भेंट चढ़ा।
जिला पंचायत सदस्य रामा सोड़ी की टीम पहुंची जिसमें गंगा नाग,महेश कुंजाम, राजेश नाग,जोगा, गंगा बघेल कार्यस्थल और मौके पर बने स्टाॅप डैम का लिया जायजा.!
राज्य सरकार के मंशा अनुरूप कि किसानों, मजदूरों को फसल हेतु सिंचाई के लिए पानी का उचित व्यवस्था हो, लेकिन विभागीय अधिकारियों और ठेकेदार के मिलीभगत से बने डैम सभी भ्रष्टाचार का भेंट चढ़ गया, पिछले गर्मी के दिनों में बना है पहला बारिश भी नहीं झेल सका,बुढदी में पुरी तरह ठेकेदार की लापरवाही है बना डैम का सही हाईट और बने वाॅल में कहीं नहीं छड़ का उपयोग किया गया है।रेत ज्यादा डालकर बना दिया वाॅल, सही मापदंड भी नहीं है ऐसा लगता है कि इंजीनियर रहकर बनाना सबसे घटिया काम है।।उस नाले को देखते हुए सही हाईट भी नहीं है उसी नाले पर दो डैम निर्माण किया गया है।।

ग्राम पंचायत मुर्रेपाल में भी डैम तैयार किया गया है ग्रामीणों ने बताया कि उस वाॅल में भी छड़ का उपयोग बहुत कम किया गया है,एक तो डैम में फाटक भी नहीं है लगभग 9 से 10 माह हो गया है अब तक नहीं लगा है उसका हाईट पानी को नहीं रोक सकता बहुत ही कम है ।।

जितना भी किसानों की फसल की सिंचाई के लिए बना है,कहीं न कहीं किसानो के साथ भी ठगी महसूस हुआ है। और अधिकारियों और ठेकेदार मिलकर उस पैसे का दुरपयोग किया गया है जितना भी स्टाॅप डैम बना है जिले में सभी स्टाॅप डैम की गुणवत्ता का जांच होनी चाहिए और दोषियों पर कड़ी कारवाई होनी चाहिए बगैर टेंडर के कोटेशन के आधार पर विभाग मटेरियल का ठेका देना ,बिल्कुल भी जायज नहीं है लाखों रुपए का डैम चंद महीने नहीं टिक पाया।।सभी पर उचित कारवाई हो।।
आगामी दिनों में बिल्कुल ऐसे मामलों पर संज्ञान लेकर दोषियों के खिलाफ उचित कारवाई हो नहीं तो कोरोना महामारी ओ ध्यान में रखते हुए हम बड़ा आंदोलन करेंगे।।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *