केंद्र सरकार का किसान हित में विधेयक क्रन्तिकारी फेसला – हूंगाराम मरकाम

केंद्र सरकार का किसान हित में विधेयक क्रन्तिकारी फेसला – हूंगाराम मरकाम

किसानो की आय होगी दुगनी।

भाजपा जिला सुकमा के जिलाध्यक्ष हूंगाराम मरकाम ने केंद्र सरकार की किसान हित में लाये गये विधेयक को क्रांतीकारी कदम बताते हुवे विपक्ष के द्वारा किसानो को गुमराह कर भ्रम फेलाने का आरोप लगाया है।जिलाध्यक्ष का कहना हैं की ईस बिल से कृषि के क्षेत्र में अभूतपूर्व बदलाव होगा जिससे किसानो की आय दुगनी होगी व बिचौलियों से किसान भाई बच सकेंगे।हूंगाराम मरकाम भी पेसे से किसान हैं उन्होने कहा है की केंद्र सरकार का ते फेसला अब तक के किसानो के हीत में लिये गये फेसलो मे सबसे बेहतर निर्णय साबित होगा।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी किसानो को पहले से आश्वस्त कर चुके हैं की सरकारी खरीदी होगी व एपीएमसी हैं और रहेगी व एमएसपी भी रहेगी व किसानो को पुरी आजादी रहेगी की किसान भाई अपने फसल को कहि भी बेच सकते हैं बिचौलियों से मुक्ति देने वाला ये विधेयक लाया गया हैं।जिससे किसान हित में बात करने वाले बिचौलियों के हमदर्द कांग्रेस व अन्य विपक्षी दल हाय तौबा मचा रहे हैं।किसान अपने फसल को अपनी आजादी व सहूलियत से अच्छे दामो में बेच सकेंगे।नय विधेयक के अनुसार कम्पनी खुद जा कर किसानो से फसल खरीद सकेगी जिसके दाम किसान खुद तय कर सकेंगे और पेसा सीधे किसान के खातो मे पहुचेंगी जिससे कम्पनी व किसानो के बिच बिचौलियों को लाभ न पहुचते हुवे उसी लाभ का अंश सीधे किसान भाईयो को मिलेगा जिससे उनके फसल का उन्हे सही दाम मिल सकेगा बिचौलियों के हमदर्द विपक्षी पार्टी किसानो में भ्रम पेदा कर रही हैं इससे साफ होता है की विपक्षियों को किसानो का नही बिचौलियों की चिंता हैं।वेसे भी राज्य की कॉंग्रेस सरकार किसानो को ठगते आई हैं बोनस के झूठे वादा करने वाली सरकार अब किसानो को केंद्र की किसान हित में जारी विधेयक का खिलाफत कर किसान भाईयो में भ्रम पेदा कर रही हैं जो की अनुचित हैं।पंजीकृत व्यपारी भी पहले की तरह व्यपार कर सकेगा फर्क बस इतना है की पहले किसान सिर्फ मंडियो में अपनी फसल बेचता था अब कहि भी बेच सकेगा।इससे छौटै किसान भाई भी अपना सनघठं बना कर लाभ उठा सकेंगे किसानो के हित को देखते हुवे सांसद मे तीन विधेयक लाय गये हैं जो किसानो की जिन्दगी खुशहाल कर देंगे।भारत का अन्नदाता आर्थिक रुप से विकसित होगा।जिससे कॉंग्रेस पार्टी सहित अन्य विपक्षियों को पीडा हो रही हैं।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *