कलेक्टर एवं एसपी ने कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम के सम्बन्ध में विधायक विक्रम मंडावी की मौजदूगी में अन्य जनप्रतिनिधियों, समाज प्रमुखों सहित मीडिया प्रतिनिधियों से की चर्चा

कलेक्टर एवं एसपी ने कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम के सम्बन्ध में विधायक विक्रम मंडावी की मौजदूगी में अन्य जनप्रतिनिधियों, समाज प्रमुखों सहित मीडिया प्रतिनिधियों से की चर्चा

बीजापुर 09 सितम्बर- जिले में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण सहित उपचार के लिए शासन-प्रशासन द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है। शासन के निर्देशानुसार कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का परिपालन करने सहित आम लोगों को जागरूक करना हम सभी की जिम्मेदारी है। इस दिशा में हम सभी लोगों को आगे आकर सहभागिता निभाना होगा, ताकि जिले में कोविड-19 के नियंत्रण में हम सफल हो सकें। यह अपील स्थानीय विधायक एवं उपाध्यक्ष बस्तर विकास प्राधिकरण विक्रम मंडावी ने जिला पंचायत के सभागार में कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम के सम्बन्ध में जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, समाज प्रमुखों, व्यावसायिक संगठनों तथा मीडिया प्रतिनिधियों की बैठक के दौरान की। बैठक के दौरान कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल और पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने उपस्थित सभी लोगों से कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम सहित जांच एवं उपचार संबंधी विस्तृत चर्चा की। बैठक में पूर्व मंत्री महेश गागड़ा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री शंकर कुड़ियम, सहित जिले के जनप्रतिनिधी, विभिन्न समाज प्रमुखों के साथ ही व्यावसायिक संगठनों के पदाधिकारी एवं मीडिया प्रतिनिधी मौजूद थे।
विधायक विक्रम मंडावी ने कहा कि कोविड-19 के बारे में जानकारी और सतर्कता ही बचाव है। इस हेतु स्वयं सजग रहने के साथ आम लोगों को जानकारी देकर उन्हे सावधानी बरतने के लिए अभिप्रेरित करें। मास्क का उपयोग करने, निर्धारित सामाजिक दूरी बनाये रखने सहित साफ-सफाई और स्वच्छता के प्रति सजग रहने, समय-समय पर साबुन से हाथ की धुलाई करने लोगों को समझाईश देवें। बाजार तथा भीड़ वाले स्थानों पर जाने से बचने सहित अत्यंत आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलने के लिए आम जनता को जागरूक करें। विधायक ने सभी से आग्रह किया कि हम सभी कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम सहित जांच उपचार सम्बन्धी संदेश को अंदरूनी ईलाकों के ग्रामीणों तक पहुंचायें।
बैठक में कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने कोविड-19 की रोकथाम सहित संक्रमितों के जांच एवं उपचार के लिए प्रशासन को सहयोग प्रदान करने का आग्रह करते हुए कहा कि जिले में कोविड संक्रमितों की संख्या निरंतर बढ़ रही है, जो चिंताजनक है। इसे मद्देनजर रखते हुए कोविड से बचाव एवं रोकथाम सहित जांच और उपचार की दिशा में सभी लोगों का सहयोग आवश्यक है। इस हेतु कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का अनुपालन करने के साथ ही आम लोगों में जागरूकता लाना जरूरी है। इस ओर प्रशासन निरंतर जुटी है, जिसमें जनप्रतिनिधी, समाज प्रमुख, मीडिया प्रतिनिधी सभी लोग जुड़कर अंदरूनी क्षेत्रों के लोगों तक जानकारी पहुंचाने में सहयोग प्रदान करें। वर्तमान में एक्टिव सर्वलांस दलों द्वारा घर-घर जाकर सर्दी-खांसी, सिर दर्द, बुखार जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों तथा बाहर से आये हुए लोगों का सर्वे किया जा रहा है। वहीं इन लोगों का कोविड जांच किया जा रहा है, अतएव आम लोगों को जांच करवाने के लिए प्रेरित करें और बाहर से आने वाले लोगों की सूचना अवश्य देवें। कलेक्टर ने कोविड-19 सम्बन्धी अफवाहों तथा भ्रामक खबरों से दूर रहने सहित ऐसा करने वाले लोगों की सूचना देने का आग्रह करते हुए अफवाह फैलानेे वालों पर सख्त कार्यवाही करने का भरोसा दिलाया। उन्होने होम आईसोलेशन सम्बन्धी दिशा-निर्देशों की विस्तृत जानकारी दी। वहीं कोविड संक्रमित मृतकों के पार्थिव शव का अंतिम संस्कार के लिए स्थल चिन्हीत करने आश्वस्त करते हुए अंतिम संस्कार के दौरान गाईड-लाईन का पालन करने पर बल दिया। उन्होने इस हेतु मृतकों के परिजनों को दुख की घड़ी में निर्धारित प्रोटोकाॅल के बारे में समझाईश देने हेतु समाज प्रमुखों से आग्रह किया। बैठक में पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का अनुपालन पर बल देते हुए कहा कि प्रशासन की सख्ती के बजाय लोगों को स्वयं सजगता बरतना होगा। अतएव बचाव एवं नियंत्रण सहित जांच एवं उपचार के लिए आगे आकर सहभागिता निभायें। सभी लोग मिलकर जनजागरूकता में सहभागी बनें। इस मौके पर सीईओ जिला पंचायत पोषण लाल चंद्राकर ने बताया कि लोगों को जागरूक करने के लिए नगरीय एवं ग्रामीण ईलाकों में ध्वनि विस्तारक यंत्र से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। इसके साथ ही गांवों में कोटवारों के जरिये मुनादी कराया जा रहा है। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बीआर पुजारी ने जिले में कोविड-19 के जांच एवं उपचार सुविधाओं की जानकारी देते हुए बताया कि जिला अस्पताल सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भैरमगढ़, नेलसनार, गंगालूर, आवापल्ली तथा भोपालपटनम में कोरोना जांच की जा रही है। इसके साथ ही हरेक ब्लाक में दो-दो मोबाईल टीम द्वारा कोविड जांच किया जा रहा है। लक्षण वाले मरीजों तथा गंभीर मरीजों के उपचार हेतु 100 शैय्यायुक्त कोविड डेडीकेटेड हास्पीटल है। वहीं कम लक्षण वाले मरीजों के लिए 100 शैय्यायुक्त कोविड केयर सेंटर बीजापुर में सुविधाएं उपलब्ध है। इसके साथ ही भैरमगढ़ में 150, भोपालपटनम में 150 तथा बीजापुर में 100 शैय्यायुक्त कोविड केयर सेंटर है। उन्होने बताया कि वर्तमान में जिले में एंटीजन किट सहित आरटीपीसीआर जांच किया जा रहा है, कल 10 सितम्बर से ट्रू-नाॅट मशीन द्वारा जांच सुविधा शुरू होने पर रिपोर्ट करीब 3 से 4 घंटे में मिलेगी। सीएमएचओ डाॅ. पुजारी ने उपचारार्थ भर्ती मरीजों का मनोबल बढ़ाने के लिए परिजनों, मित्रों तथा अन्य लोगों द्वारा विडियो काॅल कर उनके स्वास्थ्य के बारे में हाल-चाल पूछने पर बल दिया। वहीं इस दिशा में बैठक में उपस्थित लोगों से आम लोगों को जानकारी देने का आग्रह किया। बैठक के दौरान क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों, समाज प्रमुखों, व्यावसायिक संगठनों के पदाधिकारियों तथा मीडिया प्रतिनिधियों ने अपने अमूल्य सुझाव प्रदान किया।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *