परिवार से अंतिम संस्कार का अधिकार तक छीन लेना, ये कैसी क्रूरता है फूलो देवी नेताम

परिवार से अंतिम संस्कार का अधिकार तक छीन लेना, ये कैसी क्रूरता है फूलो देवी नेताम

जगदलपुर। राज्य सभा सांसद एवं महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलो देवी नेताम ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग करते हुये कहा है कि सुबह-सुबह ढाई बजे, जिस तरह से उत्तर प्रदेश की सरकार ने हाथरस की बेटी के साथ अन्याय किया है उसे देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से इस्तीफा प्रधानमंत्री को मांगना चाहिए।

राज्य सभा सांसद एवं महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलो देवी नेताम ने कहा है कि उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री का ट्वीट आया, उन्होंने एसआईटी का गठन किया। क्या इस एसआईटी के पास वो पावर है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को बुलाया जाए ? आज अपराधियों की गिरफ्तारी तो हुई लेकिन अब मुख्यमंत्री को एसआईटी के सामने जवाब देना चाहिए कि जिस बच्ची का इस तरह से बलात्कार हुआ, जिसकी रीढ़ की हड्डी टूटी, जिसकी जीभ को काट कर फेंक दिया गया,उस बच्ची को पहले डिस्ट्रिक्ट अस्पताल में रखा,उसको फिर अलीगढ़ के एक अस्पताल में रखा। 8 दिन एक नार्मल वार्ड में रखा और सफदरजंग अस्पताल तब पहुंचाया जब उसका अंतिम वक्त आ चुका था। बलात्कारियों की जांच एसआईटी करेगी, पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की इस निर्दयता और मुख्यमंत्री के इस षड़यंत्र की जांच कौन करेगा, प्रधानमंत्री को जवाब देना चाहिये ?

राज्य सभा सांसद एवं महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलो देवी नेताम ने कहा है कि सुशासन की बात करने वाले मुख्यमंत्री के रहते, जैसे आज एक बच्ची का क्रियाकर्म किया गया किसी रीति रिवाज को नहीं माना गया, ढाई बजे रात को जिस तरह से किया गया। भाजपा की उत्तर प्रदेश की सरकार क्या छुपा रही हैं? आपकी नाकामी आज साबित नहीं हुई, जबसे आप मुख्यमंत्री के पद पर बैठे हैं, तब से आपकी नाकामी बार-बार साबित हुई है, पर जो कल या आज सुबह हाथरस की बेटी के साथ किया गया, आपने हर हद को पार किया, हर सीमा को पार किया।

प्रदेश महिला कांग्रेस मांग करती है कि एक ही तरीका है इस मामले में न्याय करने का कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी को नैतिकता के आधार पर अपनी गद्दी छोड़नी चाहिए। नरेन्द्र मोदी जी का नारा था बेटी बचाओ पर आज देश के बेटियाँ असुरक्षित है और आप इस पर मौन  है।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *