किसानों के शोषण में जुटी भूपेश बघेल सरकार–तरुणा साबे बेदरकर

किसानों के शोषण में जुटी भूपेश बघेल सरकार–तरुणा साबे बेदरकर

महँगे कम्पोस्ट को जबरदस्ती किसानों पर थोपा जा रहा

एक जेब में पैसा डालो दूसरी जेब से निकालो यही है भूपेश सरकार की न्याय योजना

कम्पोस्ट खाद का मुफ्त वितरण करे राज्य सरकार-तरुणा साबे बेदरकर

जगदलपुर आम आदमी पार्टी के बस्तर जिला अध्यक्ष तरुणा साबे बेदरकर ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए जानकारी दी है कि सोसायटी से खरीफ़ फसलों के लिए किसानों द्वारा खाद खरीदा जा रहा है पर किसानों को राज्य सरकार द्वारा स्थापित गौठानों में उत्पादित कम्पोस्ट खाद को 10रु किलो के भाव से खरीदने के लिए मजबूर किया जा रहा है जबकि सरकार ने 6रु किलो में किसानों को उपलब्ध कराने की बात की थी।

ज्ञात हो कि मोदी सरकार द्वारा पूर्व में ही खाद के दामों में वृद्धि की जा चुकि है 1200रु में बिकने वाली DAP आज 1800रु में बिक रही है।कहा यह जा रहा है कि दामों में वृद्धि का निर्णय केंद्र सरकार ने वापस ले लिया है पर ऐसा कोई आदेश विक्रय केंद्रों तक नहीं पहुंचा है।डीज़ल के भाव सौ रुपये प्रति लीटर पहुंचने को है।कोरोना काल में सुरसा की तरह मुँह फाड़ती महंगाई से किसान भाई पहले ही त्रस्त हैं ऐसे में मंहगे कम्पोस्ट खाद को जबरदस्ती किसानों पर थोपना किसानों के शोषण से कम नहीं है।न्याय योजना के माध्यम से भूपेश सरकारऔर किसान सम्मान निधि के नाम से केंद्र सरकार किसानों के एक जेब में पैसे डाल रही है तो दूसरे जेब से केंद्र और राज्य सरकार दोनों हाथों से पैसे निकाल रहे है।

तरुणा साबे बेदरकर ने केंद्र सरकर पर तंज कसते हुए कहा किसान विरोधी मोदी सरकार की नीयत की पोल तो एक साल से जारी किसान आंदोलन ने खोल दी है पर किसान हितों के संरक्षण का वादा कर सत्ता में आई कॉंग्रेस की सरकार की नीयत की पोल भी कम्पोस्ट खाद की जबरिया बिक्री ने खोल दी है।
किसानों को भूमि की उर्वराशक्ति बढ़ाने के लिए कम्पोस्ट खाद की आवश्यकता है इसलिए आम आदमी पार्टी भूपेश सरकार से मांग करती है कि गौठनों में उत्पादित कम्पोस्ट खाद मुफ्त में किसानों को उपलब्ध कराया जाए ताकि इससे जितनी भी वृद्धि फसल में होगी उससे किसानों को लाभ पहुँचे और महंगाई के दंश से उबर सकें।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *