पुलिस नक्सली मुठभेड़ में 01 एसएलआर, 303 समेत 05 रायफल, भरी मैगजीन, अनेको राउंड, विस्फोटक सामग्री, मेडिकल किट समेत भारी मात्रा में दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद

पुलिस नक्सली मुठभेड़ में 01 एसएलआर, 303 समेत 05 रायफल, भरी मैगजीन, अनेको राउंड, विस्फोटक सामग्री, मेडिकल किट समेत भारी मात्रा में दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद

 

जिला कांकेर- कोंडागांव के सीमावर्ती क्षेत्र भण्डारडीह जंगल में हुये पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में मारे गये माओवादियों की हुई शिनाख्ती।

कुंएमारी LGS सदस्य आंशु कोरचा एवं अस्मिता के रूप में शिनाख्त की गई। दोनों माओवादियों के ऊपर 05-05 लाख का ईनाम उद्घोषित है।

उल्लेखनीय है कि मुठभेड़ में मारे गये दोनों माओवादियों के कैडर मूलतः पश्चिम बस्तर जिला बीजापुर का रहने वाले है।

पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज श्री सुंदरराज पी. एवं पुलिस अधीक्षक कोंडागांव श्री सिद्धार्थ तिवारी द्वारा मुठभेड़ में शामिल कोंडागांव डीआरजी के अधिकारी व जवानों से मुलाकात कर कार्यवाही विवरण का जानकारी प्राप्त किये तथा अभियान में शामिल सभी जवानों का उत्साहवर्धन किया।

विगत कई दिनो से थाना धनोरा एवं केषकाल क्षेत्र में बड़े नक्सली कैडर एवं नक्सल सदस्यों के उपस्थिति की लगातार सूचना मिल रही थी जिस पर पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज श्रीमान पी सुंदरराज व पुलिस उप पुलिस महानिरीक्षक उत्तर बस्तर कांकेर श्रीमान विनीत खन्ना के निर्देषन,ं एवं पुलिस अधीक्षक कोण्डागांव श्रीमान सिद्वार्थ तिवारी के मार्गदर्षन एवं उप पुलिस अधीक्षक आप्स कोण्डागांव दीपक मि़श्रा के क्रियान्वयन में जिला कोण्डागांव डीआरजी की टीम व आईटीबीपी 29वीं वाहिनी कोण्डागांव, बीएसएफ 17वीं वाहिनी ईरागांव एंव जिला कांकेर के सुरक्षा बल सघन गस्त सर्चिंग करते हुए कोण्डागांव एवं कांकेर के सरहदी क्षेत्र में नक्सलियों के विरूद्व लगातार अभियान चला रहे थे।
इसी तारतम्य में दिनांक 30.05.21 को जिला कोण्डागांव के धनोरा एव ंकेषकाल क्षेत्र में नक्सलियो की उपस्थिति की सुचना मिलने पर सुरक्षा बलो को रवाना किया गया था। इस दौरान दिनांक 01.06.21 के प्रातः ग्राम भंडारपाल के नजदीक पहले से घात लगाकर बैठे नक्सलियों द्वारा पुलिस को आता देख गोलीबारी चालू की गई जिसके बाद पुलिस पार्टी द्वारा भी आत्मरक्षार्थ तत्काल जवाबी फायरिंग की गई इस तरह लगभग डेढ़ घंटे चली मुठभेड़ के बाद नक्सली पुलिस को भारी पड़ता देख जंगल का आड़ लेकर भाग गय,े फायरिंग बंद होने के बाद जब उक्त इलाके की सर्चिंग की गई तो 01 पुरूष नक्सली एवं 01 महिला नक्सली का शव, 01 नग एसएलआर रायफल, 01 नग 303 रायफल, 03 नग 315 बोर रायफल, 02 मैगजीन, एसएलआर राउंड 27 नग एवं 303 रायफल के राउण्ड 13 नग, बरामद विस्फोटक एवं दैनिक उपयोग की सामग्री में मुख्य रूप से भारी मात्रा मे दवाईया, नक्सली वर्दी, पीट्रठू सेट, डेटोनेटर, वायर, सोलर पैनल, रेडियो सेट, नगदी पैसा, चाकू, लोहे के अन्य देषी हथियार, डायरी, नक्सल साहित्य, नक्सल दस्तावेज, टार्च, टीफिन, छाता, कैल्कूलेटर, कच्ची सब्जियां राषन, ड्राय फ्रुट्रस, पका खाना, बाल्टी, मग्गा, बर्तन, एवं भारी मात्रा में अन्य दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद किया गया है।
प्रारंभिक पूछताछ पर मृत नक्सलियों की षिनाख्तगी में 01 पुरूष नक्सली का नाम आसू कोरचा उम्र 20 वर्ष निवासी दक्षिण बस्तर, 02 महिला नक्सली का नाम रीना नरेटी पति रमेष हुपेण्डी, उम्र करीब 27 वर्ष निवासी तमोड़ा जिला आमाबेड़ा के नाम पर हुई है। जिन पर पूर्व से ही 5-5 लाख के ईनाम घोषित है जिसे तस्दीक कर मृत नक्सलियों के परिजनो से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है

मारे गए उक्त दोनो नक्सली मार्च माह में थाना धनोरा के कुएंमारी क्षेत्र में हुए आगजनी में एवं क्षेत्र में हुए अन्य कई नक्सली घटनाओं में शामिल थे। उपरोक्त घटना में थाना धनोरा में मृत महिला नक्सली रीना नरेठी नक्सल संगठन में कार्यरत रहते हुए इस प्रकार के दहषत फैलाने जैसे अनेक घटनाओ में शामिल रही है, जिससे इस पर हत्या, हत्या का प्रयास, आगजनी, जिसमें विस्फोटक पदार्थ, आम्र्स एक्ट, यूएपीए, एवं आईपीसी की धाराओं के तहत आधा दर्जन से ज्यादा अपराध दर्ज है एवं पुरूष नक्सली के भी अनेक घटनाओं में शामिल होने की जानकारी मिलने से कोण्डागांव एवं सरहदी जिलो में पतासाजी जारी है।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *