13 दिव्यांगजन व आर्थिक रूप से कमजोर परिवार को व्यवसायी शंकर गोद वानी द्वारा प्रदत्त भाप मशीन दिया गया ।

 

थाना गुण्डरदेही क्षेत्र के 13 दिव्यांगजन व आर्थिक रूप से कमजोर परिवार को व्यवसायी शंकर गोद वानी द्वारा प्रदत्त भाप मशीन दिया गया ।एवम कोरोना संक्रमण को रोकने में भाप लेने की उपयोगिता के बारे में बताया गया।

वैज्ञानिकों ने शुरु से ही स्ट्रीम को फायदेमंद बताया है. वहीं ताजे अध्ययन में यह बात साबित भी हो चुकी है कि रोजाना दो से तीन बार पांच मिनट तक भाप लेने से कोरोना का फेफड़ों पर असर नहीं होगा।
, रोजाना भाप लेकर फेफड़ों को इतना मजबूत बनाया जा सकता है कि कोरोना वायरस का उन पर कोई असर नहीं होगा. फेफड़े सफलतापूर्वक कोरोना वायरस का सामना कर सकते हैं। है
विशेषज्ञों ने भाप को फेफड़ों का सैनिटाइजर करार वैज्ञानिकों का मानना है कि भाप लेने से वायरस को मात दिया जा सकता है!

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *