बस्तर

15 जुलाई से अगले 75 दिनों तक 18 वर्ष से 59 साल के नागरिकों को मुफ्त सतर्कता डोज पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा लिये गए फैसले

15 जुलाई से अगले 75 दिनों तक 18 वर्ष से 59 साल के नागरिकों को मुफ्त सतर्कता डोज पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा लिये गए फैसले

जगदलपुर , आजादी के अमृत काल के अवसर पर केन्द्रीय कैबिनेट के बैठक में कोरोना मुक्त भारत के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करते हुए 15 जुलाई से अगले 75 दिनों तक 18 वर्ष से 59 साल के नागरिकों को मुफ्त सतर्कता डोज पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा लिये गए फैसले पर पूर्व विधायक संतोष बाफना एवं वरिष्ठ भाजपा सदस्य व पार्षद योगेन्द्र पाण्डेय ने संयुक्त पत्र लिखकर इस कुशल एवं लोककल्याणकारी सद्प्रयास के लिए प्रधानमंत्री का अभिनंदन व्यक्त किया।

दोनों ही भाजपा नेताओं के द्वारा कहा गया है कि, देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों के बीच इस फैसले से चौथी लहर की आशंका से जनता भय मुक्त होगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दूरगामी सोच के परिणामस्वरूप ही 18 वर्ष से अधिक सभी नागरिकों को सतर्कता डोज ‘‘ अमृत डोज’’ के रूप में प्राप्त होगी एवं पात्र नागरिक पूरी तरह सुरक्षा का अनुभव करेंगे। गंभीर बिमारियों से ग्रसित आमजन एवं बुजुर्गों के लिए तो यह सतर्कता डोज निश्चित तौर पर संजीवनी साबित होने वाली है। इसके अलावा कोरोना से बचाव के लिए अगले 75 दिनों तक चलने वाले महाअभियान में जनता से सतर्कता डोज लगाने की अपील करते हुए कहा है कि, चौथी लहर से बचने के लिए 18 वर्ष से 59 साल के सभी नागरिक, युवा वर्ग, स्वास्थ्य कर्मी व कोरोना योद्धा सभी एहतियाती खुराक जरूर लगवाएं। खासकर युवा वर्ग और कामकाजी आबादी को यह वायरस अपनी चपेट में ले रहा है और देश मे सबसे ज्यादा युवा आबादी कोरोना वायरस के निशाने पर है। बस्तर जिले में भी अभी हाल ही में कुछ कोरोना मामलें सामने आए हैं और कोरोना का खतरा अभी खत्म नहीं हुआ है। सतर्कता डोज लगाने से पर्याप्त एंडीबॉडी बनेगी, जो वायरस का मुकाबला करेगी। और जिंदगी बचाने के लिए टीकाकरण जरूरी है। अपनी और दूसरों की हिफाजत करना सबसे बड़ा धर्म है। इसलिए सभी पात्र नागरिक के साथ युवा वर्ग भी 75 दिनों तक चलने वाले महाअभियान में स्वास्थ्य कर्मियों का सहयोग करें एवं सतर्कता डोज अवश्य ही लें और अपने परिवार के सदस्यों को भी टीका लगवाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.