एसडीसी फाउंडेशन के समक्ष कलेक्टर रजत बंसल रखेंगे आमचो बस्तर मॉडल

एसडीसी फाउंडेशन के समक्ष कलेक्टर रजत बंसल रखेंगे आमचो बस्तर मॉडल

आमचो बस्तर – चुनौतियां और रास्ते विषय पर ऑनलाइन पैनल डिस्कशन में राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर के स्कॉलर्स होंगे शामिल

एसडीसी फाउंडेशन और बस्तर जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयास से ऑनलाइन वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है. इसके तहत “द स्पिरिट ऑफ आमचो बस्तर- चुनौतियां और सम्भावनएं विषय पर 23 मार्च 2021 को शाम 7 बजे ऑनलाइन पैनल डिस्कसन का कार्यक्रम रखा गया है।

इस आयोजन में मुख्य वक्ता के तौर पर बस्तर कलेक्टर श्री रजत बंसल और विशेष वक्ता के तौर पर एसडीसी (सोशल डेवलपमेंट फॉर कम्युनिटीज़) फाउंडेशन के संस्थापक श्री अनूप नौटियाल हिस्सा लेंगे तथा देश के शीर्ष संस्थाओं, विश्वविद्यालयओं के स्टूडेंट्स एवं देश के विभिन्न क्षेत्रों के प्रबुद्धजन बतौर प्रतिभागी/श्रोता शामिल होंगे.

बस्तर जिला कुपोषण, मलेरिया ,अतिवाद जैसी कई तरह की चुनौतियों से लड़ते हुए आज निरंतर आगे बढ़ रहा है तथा ज़िले में सुपोषण, मलेरियामुक्त बस्तर तथा शिक्षा के क्षेत्र में अद्भुत कार्य किया जा रहा है.

इसके लिए कलेक्टर श्री रजत बंसल के नेतृत्व में बस्तर प्रशासन, बस्तरवासियों के साथ मिलकर विकास की नई राह गढ़ रहे हैं। बस्तर जिले में अतिवाद की तमाम चुनौतियों के बावजूद आज जिस तरह के नवाचार हो रहे हैं उससे प्रदेश ही नहीं, बल्कि देश भर में लोगों का बस्तर को लेकर नज़रिया बदल रहा है। बीते दिनों में बस्तर में कलेक्टर श्री रजत बंसल के नेतृत्व में ऐसे कई नवाचार हुए हैं, जिसने देश भर में सुर्खियां बटोरी हैं। इस आयोजन में स्वास्थ्य, स्वच्छता, समाज कल्याण जैसे तमाम मुद्दों पर बातचीत होगी।

एसडीसी फाउंडेशन उत्तराखंड के देरहादून में स्थित एक संस्था है, जिसकी स्थापना साल 2017 में हुई थी। एसडीसी सतत विकास और शासन के मुद्दों पर काम कर रहा है। एसडीसी फाउंडेशन ने कई हितधारकों – सरकारी संस्थानों, निजी निगमों, थिंक-टैंक, अंतर्राष्ट्रीय विकास एजेंसियों, मीडिया और नागरिक समूहों के साथ काम किया है। एसडीसी फाउंडेशन वर्तमान में तीन राज्यों उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में सक्रिय है। एसडीसी फाउंडेशन के पास जलवायु परिवर्तन, शहरीकरण, पर्यटन और हिमालयी पर्यावरण के मुद्दों पर काम करने का एक लंबा अनुभव है। एसडीसी ने क्षेत्रीय, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई उच्च स्तरीय समितियों और परामर्शों में सकारात्मक योगदान दिया है।

इस अभिनव वेबिनार में भाग लेने के लिए आप बस्तर ज़िले के आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल या वेबसाइट में जाकर निशुल्क पंजीयन करवा सकते हैं।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *