बस्तर

देवती कर्मा एवं सुलोचना कर्मा पहुँचे शाला प्रवेश उत्सव मे

देवती कर्मा एवं सुलोचना कर्मा पहुँचे शाला प्रवेश उत्सव मे

दंतेवाडा-( कवि सिन्हा ) शासकीय हाई स्कूल फ़रसपाल में शाला प्रवेश उत्सव बड़े ही धूम धाम से मनाया गया, छत्तीसगढ़ राज्य में 16 जून से नवीन शैक्षणिक सत्र प्रारंभ होने के अवसर पर प्रदेश के सभी शासकीय एवम अशासकीय विद्यालयों में शाला प्रवेश उत्सव का आयोजन किया जाना था और उसी तारतम्य में शासकीय हाई स्कूल फ़रसपाल में भी प्रवेश उत्सव शाला प्रबंधन एवम दन्तेवाडा विधायक देवती महेन्द्र कर्मा और जिला पंचायत सदस्य सुलोचना कर्मा की उपस्थिति में मनाया गया। शाला प्रवेश उत्सव के अवसर पर आज विद्यालय पहुंचे विद्यार्थियों को पुष्पगुच्छ भेंटकर और तिलक लगाकर अतिथियो ने शाला में प्रवेश कराया और छात्र छात्राओं का मुंह मीठा कराया गया। आज विद्यालय पहुंचे छात्र छात्रों को शासन की तरफ से प्रदान की जाने वाले निशुल्क पाठ्यपुस्तक का भी वितरण किया गया और उत्कृष्ट छात्र छात्राओं को पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया गया ।
बता दें कि गीदम विकासखण्ड अंतर्गत फ़रसपाल हाई स्कूल अंतर्गत जो कि विधायक का गृहग्राम भी है जहाँ प्राथमिक एवम पूर्व माध्यमिक शालाओं में भी शाला प्रवेश उत्सव मनाया गया एवम प्राथमिक पूर्व माध्यमिक शाला के छात्र छात्राओं को निःशुक्ल पाठ्यपुस्तकों सहित निःशुक्ल गणवेश का भी वितरण किया गया। विधेयक देवती कर्मा ने इस अवसर पर उपस्थित समस्त शिक्षकों को भी शाला प्रवेश उत्सव की बधाई देते हुए कहा कि ग्राम स्तर के इस विद्यालय में सभी पदस्थ शिक्षकों को छात्र छात्राओं के भविष्य के निर्माण की जिम्मेदारी मिली हुई है और जो बहुत ही महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है जिसको लेकर सभी शिक्षकों का समर्पण जिम्मेदारियों के प्रति होना नितांत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि आज का छात्र कल का भविष्य है और भविष्य गढ़ने की जिम्मेदारी शिक्षकों की है और उन्हें विश्वास है कि सभी शिक्षक अपना बेहतर समर्पण अपने कर्तव्य के प्रति साबित करेंगे। उन्होंने उपस्थित छात्र छात्राओं को भी शाला प्रवेश उत्सव के अवसर पर बधाई देते हुए कहा कि छात्र जीवन मे पढ़ाई ही छात्र छात्राओं की मुख्य जिम्मेदारी है जिससे उनके परिवार की मंशा साथ ही स्वयं उनका भविष्य जुड़ा हुआ रहता है अतः सभी मन लगाकर पढ़ाई करें और शाला का वातावरण शैक्षणिक बनाने में गुरुजनों की मदद करते हुए गुरु शिष्य की परंपरा का भी पालन करें।

जिला पंचायत सदस्य सुलोचना कर्मा ने कहा शिक्षकों व विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि कोई भी बच्चा शिक्षा के मूल अधिकार से वंचित ना हो, इसके लिए शिक्षकों के द्वारा प्रत्येक बच्चे की सघनता से मानिटरिंग की जा जाए। यह भी कहा कि स्कूलों में शार्ट अटेंडेंस वाले बच्चों का व्यक्तिगत तौर पर फालोअप लेने और उन्हें हरहाल में स्कूल तक लाने की जवाबदेही शिक्षकों की होगी। विद्यालय के शिक्षकों को इसबात से भी आश्वस्त किया कि जरूरत पड़ने पर विद्यालय हित मे जो कुछ भी उनसे बन पड़ेगा उसके लिए वह सदैव तैयार रहेंगे और तत्तपर रहेंगें। शाला प्रवेश उत्सव के अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा जी,beo कटेकल्याण,सरपंच अनिल कर्मा प्राचार्य सोनवानी जी एवं समस्त शिक्षकगण उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.