कोरोना की रोकथाम के लिए बढ़ाई जाएगी टेस्टिंग क्षमता

 

कोरोना की रोकथाम के लिए बढ़ाई जाएगी टेस्टिंग क्षमता

कोरोना जांच के लिए गांव-गांव पहुंचेगी जांच दल

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी होगी सैम्पल कलेक्शन की व्यवस्था

कोविड-19 टास्क फोर्स की बैठक में कलेक्टर ने की समीक्षा

ज्गदलपुर, बस्तर कलेक्टर रजत बंसल ने कोरोना की रोकथाम के लिए अधिक से अधिक टेस्टिंग पर जोर दिया। डिमरापाल स्थित स्व बलीराम स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के सभाकक्ष में आयोजित टास्क फोर्स की बैठक में कलेक्टर श्री बंसल ने टेस्टिंग की क्षमता तीन गुना तक बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने बस्तर जिले में चौबीसों घंटे कोरोना जांच प्रारंभ करने की बात भी कही।
कलेक्टर ने कहा कि कोरोना पाजिटिव पाए गए मरीजों के संपर्क में आने वाले सभी लोगों की कोरोना जांच तत्काल सुनिश्चित करने के लिए कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य भी यथाशीघ्र किया जाना आवश्यक है और इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिन्हें घर-घर जाकर कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य करने की जिम्मेदारी दी गई है, वे पूरी गंभीरता के साथ इस कार्य को करें। उन्होंने कांटेक्ट ट्रेसिंग की एंट्री शीघ्र करने के साथ ही कोरोना जांच के बाद पाॅजीटिव पाए गए लोगों की रिपोर्टिंग में किसी भी प्रकार का विलम्ब नहीं करने को कहा, जिससे मरीज का उपचार शीघ्र प्रारंभ हो सके।
कलेक्टर ने गांव-गांव में जाकर लोगों की कोरोना जांच के निर्देश दिए। उन्होंने इसके लिए चलित जांच केन्द्र हेतु वाहन उपलब्ध कराने की बात कही। इसके साथ ही प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में नमूना संग्रहण के लिए जरुरी प्रबंध करने के निर्देश भी दिए। जगदलपुर नगरीय क्षेत्र में नमूना संग्रहण के लिए वार्ड कार्यालयों में आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए और कहा कि नजदीक में ही कोरोना जांच की व्यवस्था होने से लोगों को सहुलियत होगी। कोरोना जांच के बाद इसके परिणामों की जानकारी मेकाज के वेबसाईट में उपलब्ध लिंक gmcjagdalpur.ac.in/covid/covid-test-report.php के माध्यम से प्रदान करने के साथ ही इसकी जानकारी आम जनता तक पहुंचाने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिए।
कलेक्टर श्री बंसल ने कहा कि कोरोना से बचाव व इसकी रोकथाम के लिए अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने की आवश्यकता है। उन्होंने इसके लिए शहरी क्षेत्रों में लाउडस्पीकर के माध्यम से प्रचार करने के निर्देश दिए। ग्रामीण क्षेत्रों में भी इसके लिए गठित दलों के माध्यम से घर-घर पहुंचकर लोगों को जानकारी देने के साथ ही कोरोना जांच के लिए प्रेरित करने को कहा। उन्होंने कहा कि इस कार्य की निगरानी के लिए अधिकारियों की नियुक्ति की जाए। उन्होंने कहा कि लोगों की सहुलियत के लिए एक टोल फ्री नम्बर भी उपलब्ध कराया जाएगा, जिसमें कोरोना से संबंधित सहायता प्रदान की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना के खिलाफ यह लड़ाई सभी के द्वारा लड़ी जा रही है और इस लड़ाई के दौरान किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। उन्होंने हड़ताली कर्मचारियों के विरुद्ध भी कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने दवाइयों को अधिक मूल्य पर बिक्री की शिकायत पर कड़ी कार्यवाही के निर्देश भी अधिकारियों को दिए।

*लापरवाही नागरिकों पर होगी सख्त कार्यवाही*

कलेक्टर ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन द्वारा सभी जरुरी प्रयास किए जा रहे हैं तथा इसमें जनता का सहयोग भी आवश्यक है। उन्होंने जिले में धारा 144 प्रभावशील होने के कारण इसका उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए। इसके साथ ही बिना मास्क के पाए जाने पर लोगों के विरुद्ध तत्काल जुर्माने की कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए।
बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री दीपक झा, सहायक कलेक्टर सुश्री रेना जमील, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री ओपी शर्मा, अपर कलेक्टर श्री अरविंद एक्का, चिकित्सा महाविद्यालय के अधिष्ठाता श्री यूएस पैकरा सहित टास्क फोर्स के सदस्यगण शामिल थे।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *