बस्तर

आदिवासियों के नाम पर बनी सरकार में आदिवासी परिवार की सुध लेने वाला कोई नहीं -सुरेश गुप्ता

आदिवासियों के नाम पर बनी सरकार में आदिवासी परिवार की सुध लेने वाला कोई नहीं -सुरेश गुप्ता

बेसहारा परिवार को कलेक्टर से मिलवाया नगर अध्यक्ष सुरेश गुप्ता ने

जगदलपुर – बेसहारा आदिवासी परिवार जिनका पूरा परिवार जिंदगी की जंग लड़ रहा है ऐसे परिवार को नगर मंडल अध्यक्ष सुरेश गुप्ता और उनके साथी ने कलेक्टर से मिलवाने कलेक्ट्रेट लेकर आए कलेक्टर परिसर में बलराम नेता जमीन में भी सकते हुए कलेक्टर का किसी और जब बढ़ने लगे सारे अधिकारियों के कान खड़ी हो गई महिला समाज कल्याण विभाग की उप संचालक ने यह दृश्य देख तत्काल व्हीलचेयर मंगवा कर बलराम नेताम को उपलब्ध कराया
श्री सुरेश गुप्ता ने बताया की बलराम नेताम का पूरा परिवार गंभीर बीमारी से ग्रस्त है बलराम नेताम 1 वर्ष पूर्व दिव्यांग हो गए पत्नी निशा नेताम की आंखों की रोशनी चली गई है बेटा नवीन नेताम का भी आंख खराब हो रहा है विधवा बहन को कैंसर हो गया है विगत 3 माह से सुरेश गुप्ता और उनके साथियों के द्वारा इनके इलाज और इनके अनाज की चिंता की जा रही थी नैना नेताम को कैंसर होने के बाद सुषमा विंग्स कैंसर केयर के माध्यम से कैंसर का प्रारंभिक इलाज हेतु बायोस्कॉपी टेस्ट हुआ है यह परिवार वर्तमान में किराए के मकान में रहते हैं विगत 8 माह से इन्होंने अपने मकान का किराया भी नहीं दिया है बलराम नेताम ड्राइवर थे विगत 3 वर्ष पूर्व इनकी पैर में परेशानी होने की वजह से पैर में पाइजन होता चला गया गरीब होने के कारण उचित इलाज समय पर नहीं करा पाए और इनका पैर डीम्रपाल मेडिकल कॉलेज में घुटने के नीचे से पूरा मांस कटवाना पड़ा पैर में रॉड लगा है घुटने में कटोरी लगी है !
मां को आंख से नहीं दिखता वह पूरी तरह अंधी हो चुकी है नैना के पति का देहांत 4 वर्ष पूर्व हो चुका है नैना की बेटी है नैना अपनी बेटी के साथ अपने माता-पिता पर आश्रित है*
छोटा भाई नवीन नेताम सबका पालन पोषण करता था, नवीन नेताम को भी विगत 1 वर्ष से आंख से कम दिखने लगा और धीरे-धीरे इसकी रोशनी कम होती गयी, दो-तीन माह पूर्व से इसका इलाज प्रारंभ हुआ इसकी आंख की कोई नस दब रही है इसके उचित इलाज हेतु जनसहयोग से इसे भी रायपुर ले जाकर प्राथमिक इलाज कराया गया जो चल रहा है बहुत ज्यादा राहत नही है ,
विगत 3 माह से नैना नेताम के मुंह में भी तकलीफ होने लगा प्राथमिक इलाज कराती रही एक माह पूर्व नैना का मुंह एकदम बंद होने लगा तो यहां के डॉक्टरों ने रायपुर मेकाहारा रेफर किया वहां बताया गया कि प्रारंभिक कैंसर है कुछ दिनों की दवा देने के बाद नैना नेताम को वापस जगदलपुर भेजा गया और पुनः 8 दिन के पश्चात टेस्ट हेतु बुलाया गया था यह टेस्ट डॉक्टर द्वारा बताया गया मुंबई सेम्पल भेजा जाएगा और इसके बाद आपकी पूरी इलाज होगी !
पूरा परिवार किराए के मकान में रहता हैं कई महीनों से इन्होंने मकान का किराया भी नहीं दिया है मकान मालिक इनके पूरी मदद कर रहे हैं, भाई की ड्राइवरी छूट गई पिताजी दिव्यांग हो गए, मां पूरी तरह अंधी हो गई कोई कमाने वाला नहीं रहा औरइलाज हेतु आर्थिक मदद की आवश्यकता है इनके पास जो भी वस्तु थी, इन्होंने उसे बेचकर इलाज में लगा दिया अब इनके पास कुछ भी बेचने को नही है इनके पास किसी भी प्रकार का आर्थिक स्रोत भी नहीं है और भाई बहन अपना इलाज नहीं करवा पा रहे हैं, इनके सामने आजीविका की परेशानी भी हो गई है इनकी बूढ़ी अंधी मां रो-रो कर परेशान हैं हम समाज से कुछ सहयोग करवा कर इनकी मदद तक करते आए जिससे प्रारंभिक इलाज करवाया, पूरा परिवार मानसिक, आर्थिक रूप से परेशान है इलाज नहीं हो पाता है तो सबके सामने मरने के सिवा और कोई विकल्प नहीं होगा, अज्ञानता और अशिक्षा इनके जीवन को और कठिन बना रहा है, पूरा परिवार मायूस है पूरा परिवार कलेक्टर महोदय से जीवन की भीख मांगने आया हैं, परिवार को जीवन दान आप ही दे सकते हैं, आप इनके इलाज की संपूर्ण चिंता करें, और इन्हें एक मकान मिले जिससे रहने की समस्या दूर हो और इनका इलाज हो और इनका परिवार स्वस्थ हो हमारा वह पहले की तरह मेहनत मजदूरी कर , अपने माता-पिता का अपना भरण पोषण कर सके
सुरेश गुप्ता ने जिला अध्यक्ष से कहा हमें पूरी उम्मीद है कि इनके संपूर्ण इलाज की जिम्मेदारी आपके माध्यम से पूरा होगा और इन्हें मकान मिलेगा अन्यथा क्या आदिवासी परिवार तिल तिल कर मरने को मजबूर हो जाएगा इस अवसर पर नगर मंडल मीडिया प्रभारी रोशन झा युवा मोर्चा सदस्य सूर्यभूषन सिंह, अनुसूचित जनजाति मोर्चा नगर अध्यक्ष भुवनेश ध्रुव प्रेम आचार्य उपस्थित थे !

Leave a Reply

Your email address will not be published.