बस्तर जिले में लंबे समय से ट्रामा सेंटर की मांग रही जो अब होगी पूरी एक साथ दो ट्रॉमा सेंटर बनने जा रहे हैं

 

बस्तर जिले में लंबे समय से ट्रामा सेंटर की मांग रही जो अब होगी पूरी एक साथ दो ट्रॉमा सेंटर बनने जा रहे हैं

जगदलपुर बस्तर जिले में लंबे समय से ट्रामा सेंटर की मांग रही है और अब एक साथ दो ट्रॉमा सेंटर बनने जा रहे हैं केंद्र सरकार की योजना के अंतर्गत मेडिकल कॉलेज में एक ट्रॉमा सेंटर का निर्माण होगा वहीं राज्य सरकार ने महारानी हॉस्पिटल में भी ट्रामा सेंटर बनाने के निर्देश दिए हैं जिस पर बस्तर कलेक्टर ने हॉस्पिटल का निरीक्षण कर जगह चिन्हित की है

ट्रॉमा सेंटर बनने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपात स्थिति में न्यूरो सर्जन की मौजूदगी से क्रिटिकल मामलों को संभाला जा सकता है गंभीर दुर्घटना खासकर नक्सल प्रभावित इलाका होने की वजह से इन इलाकों में जवानों को हादसे के बाद रायपुर या विशाखापट्टनम हैदराबाद ले जाना होता है इस बीच जवान अकसर इलाज नहीं मिलने की वजह से दम तोड़ देते हैं ट्रॉमा सेंटर बन जाने से फायदा होगा और जल्दी इलाज मिलने की वजह से कई लोगों की जान बचाई जा सकेगी यही हाल बस्तर के आम नागरिकों का है दशकों से चिकित्सकीय सुविधा के अभाव में मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ता है और आकस्मिक चोट लगने पर गंभीर हालत में अस्पताल तक पहुंचते ही कई मरीज दम तोड़ देते हैं ऐसे में यह ट्रामा सेंटर बस्तर के लोगों के लिए जीवनदायी साबित होंगे प्रदेश के मुख्यमंत्री ने इसकी घोषणा की है और साथ ही जल्द से जल्द सेंटर का काम पूरा करने के निर्देश दिए है ।

 

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *