बीजापुर में महिला के साथ हुई मारपीट की निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर बस्तर पुलिस महानिरीक्षक को ज्ञापन सौंपा।

 

 

बीजापुर में महिला के साथ हुई मारपीट की निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर बस्तर पुलिस महानिरीक्षक को ज्ञापन सौंपा।

भूपेश सरकार फेल, महिलाओं को इतने कानूनी अधिकार मिलने के बावजूद भी बस्तर में कोई सुनवाई नही-तरुणा बेदरकर

जगदलपुर बस्तर प्रवक्ता / छत्तीसगढ़ में रसूखदारों के इशारे पर कार्य कर रही है भूपेश बघेल सरकार ,जिस प्रदेश में महिलाओं के साथ अत्याचार हो ऐसी सरकार से महिलाओं का भरोसा खत्म होता जा रहा है । आज आम आदमी पार्टी जिला बस्तर द्वारा मद्देड बीजापुर निवासी पीड़िता जो कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मद्देड में कार्यरत हैं जिसके साथ मारपीट की घटना हुई व पीड़िता को आरोपी द्वारा टोनी प्रताड़ना प्रकरण में फसाने की धमकी के आरोप की निष्पक्ष जांच और कार्यवाही की मांग को लेकर बस्तर पुलिस महानिरीक्षक जी को पीड़िता के साथ मिल कर ज्ञापन सौंपा गया।

 

ज्ञात हो पीड़िता मद्देड बीजापुर की रहने वाली और पेशे से एक नर्स है। ड्यूटी के दौरान एक मरीज को इंजेक्शन लगाने हेतु डाक्टर द्वारा कहा गया जो कि उसके ड्यूटी में शामिल है । परंतु मरीज़ के द्वारा मना करने पर पीड़िता और मरीज़ के बीच कहासुनी हो गई और मरीज़ द्वारा पूरे स्टाफ के सामने पीड़िता के साथ उसके बालों से घसीट घसीट कर बेरहमी के साथ मारपीट की गई।जिसकी रिपोर्ट पीड़िता ने थाने में जाकर लिखवाई परंतु पुलिस द्वारा कोई ठोस कार्यवाही नही की गई जिससे आरोपि के हौसले बुलंद है व उसी दिन आरोपी और उनके साथियों के द्वारा पीड़िता के बहन के साथ धमकी देते हुए छेड़छाड़ की गई व लातों के साथ खून बहते तक मारपीट की गई। मामला यंहा भी नही रुका ।महिलाओं को इतने कानून में अधिकार प्राप्त है कि कही भी महिलाओं के मामले में पुलिस को तुरंत FIR लिखनी चाहिए लेकिन इस मामले में पुलिस ने 2 दिन का समय लगाया। इस मामले में आरोपी पर कोई कार्यवाही नही होता देख पीड़िता ने sp बीजापुर से इस मामले की शिकायत की,तब जाकर fir की गई।लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण उसी दिन पुलिस के द्वारा पीड़िता को मारपीट और टोनी प्रताड़ना का आरोप लगाकर गिरफ्तार कर लिया गया, आरोपी खुलेआम घूम रहे है वही पीड़ित महिला को कोर्ट में पेश कर दिया गया । अभी पीड़िता जमानत में बाहर है।

 

आप जिला अध्यक्ष तरुणा बेदरकर ने बताया कि इस मामले में पुलिस ने सिर्फ और सिर्फ आरोपी पक्ष को मजबूत बताते हुए उनके पक्ष में कार्यवाही की है और पीड़िता के ऊपर दबाव बनाते हेतु उनपर टोनी प्रताड़ना का प्रकरण बनाया है। पीड़िता के साथ उसकी बहन व उसकी मौसी को लगातार आरोपियों द्वारा धमकी मारपीट जान से मारने की धमकी दी जा रही है ईसके बावजूद भी पुलिस के द्वारा कोई कार्यवाही ना करना और उल्टा पीड़िता को गिरफ्तार कर तुरन्त कोर्ट में पेश करना कही ना कही पुलिस की जांच और विवेचना को संदेह के दायरे में लाता है।

 

इस मामले को लेकर आज पीड़िता के साथ पुलिस महानिरीक्षक जी को निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर ज्ञापन दिया गया । इस मामले में बीजापुर पुलिस द्वारा रसूखदार आरोपियों के पक्ष में ही कार्यवाही करते हुए पीड़िता को जबरदस्ती टोनी प्रताड़ना में फसाने का काम किया जाना निंदनीय है जिसकी हम कड़े शब्दों में निंदा करते हैं ।एक रक्षक के द्वारा एक भक्षक की तरह काम करने की हम कड़े शब्दों में निंदा करते हैं और इसकी निष्पक्ष जांच और आरोपियों के साथ थाना प्रभारी पर उचित कार्यवाही होनी चाहिए ।

 

 

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *