अमृत मिशन योजना के तहत जगदलपुर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में पाइप लाइन का विस्तार काफी धीमी गति से किया जा रहा है, जिसके चलते आवागमन में दिक्कत हो रही है।

अमृत मिशन योजना के तहत जगदलपुर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में पाइप लाइन का विस्तार काफी धीमी गति से किया जा रहा है, जिसके चलते आवागमन में दिक्कत हो रही है।

जगदलपुर शहर के विभिन्न गली- मोहल्ला चौक-चौराहों पर पाइपलाइन विस्तार का काम किया जा रहा है। पाइप लाइन के लिए ठेकेदार द्वारा सड़क को खोदा जा रहा है लेकिन पाइप बिछाने के महीनों बाद भी सड़क की मरम्मत नहीं की जा रही है, जिसके चलते आवागमन में दिक्कत हो रही है और दुकानों के सामने वाहन रखने लायक भी स्थिति इन गड्ढों की वजह से नजर नहीं आ रही है। अमृत मिशन योजना के तहत धीमी गति से हो रहे कार्य का जायजा लिया इस दौरान नेता प्रतिपक्ष संजय पांडे ने कहा कि नगर निगम द्वारा बिना प्लानिंग का काम कराया जा रहा है, जिससे पूरे शहर को खो दिया गया है

और आवागमन में लोगों को असुविधा हो रही है। वहीं नेता प्रतिपक्ष संजय पांडे ने कहा कि अमृत मिशन योजना के तहत काफी धीमी गति से काम किया जा रहा है, जिससे तंग गलियों सहित बाजार क्षेत्र में भी आवागमन के लिए लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अमृत मिशन योजना के तहत पाइप डालने के नौ माह बाद तक काम जस की तस है और ऐसी क्या वजह हुई की ठेकेदार से कमीशन की अधिक मांग की गई कि वह काम छोड़कर चला गया

अमृत मिशन योजना के तहत कहां जा रहा था वर्ष 2020 में इसका लाभ शहर के लोगों को मिलेगा, लेकिन अमृत मिशन योजना का लाभ अब तक शहर वासियों को नहीं मिल रहा है, अमृत मिशन योजना का काम वर्ष 2019 तक पूर्ण हो जाना था लेकिन इस काम में देरी हुई और कोरोना के चलते काम भी बंद रहा।
अमृत मिशन योजना के तहत शहर के सभी वार्डों में बेतरतीब तरीके से पाइप लाइन बिछाने खुदाई की गई है और पाइप बिछाने के बाद इन सड़कों की मरम्मत भी नहीं की गई है। वार्ड के लोगों के कई बार बोलने के बावजूद भी ठेकेदार न लोगों की सुन रहे हैं और ना ही पार्षद की, ऐसे पूरे शहर की सड़कें अव्यवस्थित नजर आ रही है।  पेयजल को लेकर जगदलपुर शहर के कई वार्ड अब भी संकट में हैं वहीं गर्मी के मौसम ने भी दस्तक दे दी है, ऐसे में धीमी गति से चल रहे अमृत मिशन योजना के इस काम को देखकर लगता है कि इस गर्मी के मौसम में भी अमृत मिशन योजना के तहत शहर के लोगों को पेयजल आपूर्ति नहीं हो पाएगी।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *