एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव भी जवानों और आत्मसमर्पित नक्सलियों के साथ कभी हाथों में फरसा लेकर, तो कभी सिर पर सींग लगाकर नाचते-झूमते दिख रहे

 

एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव भी जवानों और आत्मसमर्पित नक्सलियों के साथ कभी हाथों में फरसा लेकर, तो कभी सिर पर सींग लगाकर नाचते-झूमते दिख रहे

दंतेवाड़ा जिले में आत्मसमर्पित नक्सलियों के साथ एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव के डांस का इस नक्सलियों की घर वापसी के लिये चलाये जा रहे अभियान ‘लोन वर्राटू’ के तहत आत्मसमर्पित नक्सलियों के साथ डांस का यह भूमकाल दिवस समारोह का है। इस समारोह में सभी लोग भूमकाल दिवस मना रहे हैं। उत्सव का माहौल है। इसी आयोजन में एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव भी जवानों और आत्मसमर्पित नक्सलियों के साथ कभी हाथों में फरसा लेकर, तो कभी सिर पर सींग लगाकर नाचते-झूमते दिख रहे हैं। आज भूमकाल दिवस पर दंतेवाड़ा पुलिस ने पुलिस लाइन कारली में इसका आयोजन किया और भूमकाल आंदोलन के जननायक गुण्डाधुर को याद किया। इस दौरान 03 ईनामी नक्सली सहित 13 नक्सलियों का लोन वर्राटू अभियान के तहत सरेंडर भी हुआ।

पूरे जोश-खरोश के साथ भूमकाल आंदोलन की 111वीं जयंती के अवसर पर दंतेवाड़ा एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव और सीआरपीएफ डीआइजी विनय कुमार स्वयं आदिवासियों के परंपरागत नृत्य में फरसा पकड़कर जमकर नाचते नजऱ आये। एसपी ने कहा कि आज 13 सरेंडर के साथ 310 नक्सलियों का सरेंडर अब तक हमने लोन वर्राटू अभियान के तहत करवाने में सफलता प्राप्त कर ली है।
हमारे जवानों में बहुत से ऐसे लोग हैं जो नक्सली भय की वजह से अपने घर नही जा पाते, उन सभी के साथ आज हम लोगों ने मिलकर भूमकाल दिवस मनाया। ये भूमकाल दिवस नक्सलियों का दिवस नही है, यह बस्तर के आदिवासियों का दिवस है। इसलिए हमने पूरे दमखम के साथ आज यह दिवस मनाया और हमने यह प्रण किया है कि आने वाले 1 वर्ष दंतेवाड़ा से नक्सलियों का पूरी तरह से सफाया कर देंगे।

 

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *