सुसाइड प्वाइंट कहें जाने वाला नया पुल की मरम्मत को लेकर उठी आवाज

सुसाइड प्वाइंट कहें जाने वाला नया पुल की मरम्मत को लेकर उठी आवाज

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण एवं लोक निर्माण विभाग द्वारा किसी भी प्रकार के मरम्मत का कार्य भी नहीं करवाया गया

 

बस्तर प्रवक्ता / संभागीय मुख्यालय जगदलपुर को राजधानी रायपुर समेत प्रदेश के अन्य जिलों से जोड़ने वाले इन्द्रावती नदी पर स्थित जर्जर हो चुके पुल के स्थान पर नया फोर लेन पुल बनाये जाने की मांग करते हुए भाजपा नेता एवं पूर्व विधायक संतोष बाफना ने केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री  नितिन गडकरी समेत प्रदेश के लोक निर्माण विभाग मंत्री ताम्रध्वज साहू  एवं राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अध्यक्ष डाॅ. सुखबीर सिंह संधू को पत्र लिखा है।

पूर्व विधायक  बाफना ने अपने पत्र में हालहि में हुए पुल के क्षतिग्रस्त होने की घटना का भी अपने पत्र में जिक्र करते हुए कहा है कि इन्द्रावती नदी के मुख्य सड़क पर वर्ष 1983-84 में निर्मित पुल जो कि वर्तमान स्थिति में जीर्ण शीर्ण अवस्था में पहुॅच चुका है। एक माह पूर्व दिनांक 18/11/2020 को इसी पुल का रेलिंग सहित फुटपाथ का कुछ हिस्सा गिरने की घटना भी हो चुकी है। और इस पूरे मामले में महज यह संयोग ही था कि, पुल का हिस्सा गिरने के दौरान किसी प्रकार की कोई जन हानि नहीं हुई।

गौरतलब है कि, इस पुल का निर्माण जब से करवाया गया था और तब से अब तक राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण एवं लोक निर्माण विभाग द्वारा किसी भी प्रकार के मरम्मत का कार्य भी नहीं करवाया गया था। वर्तमान स्थिति में इस पुल की हालत इस कदर जर्जर हो चुकी है कि, पुल निर्माण के दौरान लगाई गई लोहे की छड़ें तक अब बाहर निकल आई हैं। और जब पुल के ऊपर से कोई छोटे-बड़े वाहन गुजरते हैं तो पुल औसत से ज्यादा कंपन करता है। जिस वजह से लोगों में काफी डर व दहशत है कि पुल से गुजरते वक्त कहीं पुुल टूट न जाएं।

इस पुल के रेलिंग व फुटपाथ का हिस्सा गिरने की पूरी जानकारी लोक निर्माण विभाग एवं राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को भी है मगर जिम्मेवारों के द्वारा पुल को ठीक कराने के बजाये हादसे के एक माह बीत जाने के बावजूद अब तक सिर्फ पुल का निरीक्षण व जांच के बाद क्षतिग्रस्त पुल के एक हिस्से को लोहे के ब्रेकेटिंग से ब्लाॅक करके जिम्मेवारी से अपना पल्ला झाड़ लिया गया।

बाफना ने भविष्य की चिंता व्यक्त करते हुए आगे कहा है कि वाहनों के गुजरने से जिस तरह पुल लगातार हिल रहा है और समय रहते इस पुल की मरम्मत नहीं हुई तो कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। और यदि पूरा पुल ही धराशाई हो गया तो केवल आवागमन ही अवरूद्ध नहीं होगा, बल्कि बस्तर का जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो जायेगा। क्योंकि यही ऐसा मार्ग से जिससे जगदलपुर शहर व इससे लगे हुए अन्य जिलों में व राजधानी रायपुर तक जाया जा सकता है। इसलिए समय की दरकार को देखते हुए फौरी तौर इस पुल के मरम्मत का कार्य करने के साथ ही भविष्य के बढ़ते यातायात को देखते हुए वर्तमान पुल के ठीक बगल में एक फोर लेन पुल का भी निर्माण किया जाना उचित होगा। इसलिए आपके समक्ष प्रस्तुत प्रकरण पर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करने की कृपा करें।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *