बस्तर शिक्षा

बच्चों की दक्षता में आई कमी को लेकर शिक्षक सजगता से करें कार्य -रोहित व्यास

बच्चों की दक्षता में आई कमी को लेकर शिक्षक सजगता से करें कार्य -रोहित व्यास

 

बच्चों की हुई प्रभावित पढ़ाई को पूर्ण कराने के लिए शिक्षकों से सहयोग करने की अपील की

सत प्रतिशत उपस्थिति सहित टीकाकरण को लेकर जन जागरूकता पर दिया जोर

जगदलपुर – बस्तर जिले के शासकीय शालाओं सहित बंद पड़ी निजी शालाओं में डेढ़ माह के बाद जिला कलेक्टर रजत बंसल के आदेशानुसार उनके मार्गदर्शन में जिले की शालाओं में अध्यापन व्यवस्था सुचारू रूप से आरंभ हो सके, इसको लेकर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोहित व्यास एवं जिला शिक्षा अधिकारी, श्रीमती भारती प्रधान के द्वारा बस्तर जिले के तोकापाल विकासखंड के हायर सेकेंडरी स्कूल,तोकापाल, स्वामी आत्मानंद स्कूल माशा प्राथमिक शाला,तोकापाल का निरीक्षण किया। रोहित व्यास ने कहा कि आने वाले समय में परीक्षाओं की तैयारी एवं बच्चों के शैक्षिक गुणवक्ता को देखते हुए ।जिला पंचायत सीईओं ने शिक्षकों एवं बीईओ,बीआरसी सहित संकुल समन्वयक ओं को स्पष्ट रूप से निर्देश देते हुए कहा कि, किसी भी स्थिति में शालाओं की उपस्थिति कम ना हो सके इस को लेकर शिक्षक सतत रूप से पालको से संपर्क कर बच्चों को शाला में लाने हेतु ज्यादा से ज्यादा प्रयास करें। डेढ़ माह से बंद पड़ी शालाओं में निसंदेह बच्चों की पढ़ाई पर फर्क पड़ा है, आने वाले समय में परीक्षा है इसलिए छात्र-छात्राओं की भविष्य को देखते हुए समर्पण भाव से कार्य करने का निर्देश दिया। जिला पंचायत के सीईओ श्री व्यास ने मध्यान भोजन बनाने वाले रसोइयों से बात कर मानदेय भुगतान की जानकारी प्राप्त की साथ ही शौचालयों की स्वच्छता , रनिंग वाटर की उपलब्धता पर भी अधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने टीकाकरण के दूसरे चरण में शत-प्रतिशत बच्चों सहित जिन ग्रामीणों ने आज भी टीकाकरण नहीं करवाया है ।ऐसे लोगों को चिन्हित कर टीकाकरण करवाने के लिए न केवल प्रेरित करें बल्कि उन्हें टीकाकरण केंद्र तक ले जाने के लिए प्रयास करने का निर्देश भी दिया। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती भारती प्रधान, एपीसी,बीईओ बीआरसी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.