राजस्व पटवारी संघ के अनिश्चित कालीन हड़ताल का आम आदमी पार्टी ने किया समर्थन

 

राजस्व पटवारी संघ के अनिश्चित कालीन हड़ताल का आम आदमी पार्टी ने किया समर्थन

राजस्व पटवारी संघ के जायज मांगो को तुरंत मानकर प्रदेश में जितने भी पटवारी के रिक्त पद है उनकी भर्ती प्रकिया जल्द चालू करें भूपेश सरकार-तरुणा बेदरकर

बीजेपी के शासन काल में इन मांगो का कांग्रेस ने समर्थन किया था अब सत्ता में आने पर उन वादों को भूल गई है कांग्रेस सरकार-तरुणा बेदरकर

जगदलपुर  बस्तर प्रवक्ता / राजस्व पटवारी संघ जिला बस्तर के अनिश्चित कालीन हड़ताल का आम आदमी पार्टी जिलाध्यक्ष तरुणा बेदरकर और पदाधिकारी धरना स्थल पर जा कर समर्थन दिया है।

आम आदमी पार्टी जिलाध्यक्ष ने बताया कि पूरे जिले में लगभग 165 पटवारी पदस्थ है जिसने 7 महिलाएं भी है।इसके बावजूद भी पटवारी हेतु रिक्त पद खाली है किन्त भर्ती प्रकिया पर सरकार बिल्कुल ध्यान नही दे रही है जिसके कारण पदस्थ पटवारियों को अधिकतम कार्यभार दिया गया है।पटवारी प्रशासन के नींव होते हैं।जिसपर पूरी सरकार टिकी होती है ।उनके धरने पर बैठने से लोगों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है ।पटवारी की पद्दोन्नति ,वेतन विसंगति और तमाम जायज मांगो को जल्द ही मान कर रिक्त पदों पर भर्ती प्रकिया शुरू करे सरकार।क्योंकि इनके आंदोलन से किसानों के धान खरीदी, बंटवारे,सीमांकन,नामाँकन आदि हेतु किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।
आगे बताते हुए तरुणा बेदरकर ने कहा कि इससे पहले भी इन मांगों को लेकर रमन सिंग के बीजेपी के शासन काल मे भी आंदोलन किया गया था ।और इन मांगों हेतु भूतपूर्व सरकार को अवगत कराया गया था लेकिन तब से लेकर अबतक सत्ता परिवर्तन तक इनकी मांगे लंबित रही है।और कांग्रेस के नेताओं ने इनके आंदोलन को समर्थन देते हुए सत्ता में आने के बाद इसकी मांगो को पूर्ण करने का आश्वासन भी दिया था पर सत्ता में आने के बाद कांग्रेस सरकार भी अपने सभी वादे आश्वासन भूल गई है जिसके चलते पटवारी संघ ने अनिश्चित कालीन धरने पर बैठे हैं जिसका आम आदमी पार्टी समर्थन करते हुए उनके संघर्ष में साथ देने का वादा करती है।

समर्थन देने के दौरान धरना स्थल पर जिलाध्यक्ष तरुणा बेदरकर के साथ जिला सचिव गीतेश सिंघाड़े,जिला संगठन मंत्री विवेक शर्मा,जगदलपुर विधानसभा अध्यक्ष नवनीत सराठे मौजूद थे।

 

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *