बुर्कापाल हमले के लिए नक्सलियों ने केन्द्र व राज्य सरकार को ठहराया जिम्मेदार

बुर्कापाल हमले के लिए नक्सलियों ने केन्द्र व राज्य सरकार को ठहराया जिम्मेदार

 

सुकमा: सुकमा जिले के बुर्कापाल, ताड़मेटला इलाके में हुई आईईडी ब्लास्ट की घटना की जिम्मेदारी लेते हुए नक्सलियों ने इस हमले के लिए केन्द्र व राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।

दक्षिण सब जोनल ब्यूरो द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि ‘समाधान’ हमले के खिलाफ बुरकापाल एवं चिंतलनार के बीच पीएलजीए द्वारा हमला किया गया। इस हमले में कोबरा 206 बटालियन के असिस्टेंट कमांडेंट शहीद हो गए थे, वहीं 9 जवान घायल हो गए थे।

इस हमले का कारण केन्द्र-राज्य सरकारों की नीति है। बस्तर को पुलिस छावनी में तब्दील करते हुए हजारों अर्ध-सैनिक बलों की तैनाती की जा रही है। जनता के विरोध के बावजूद बीजापुर जिले के तर्रेम और कमरगुडेम (सुकमा) में नया पुलिस कैम्प खोला गया है।

प्रेस नोट में नक्सलियों ने आरोप लगाया है कि सशस्त्र बलों द्वारा अक्टूबर व नवंबर महीने में 16 वर्ष की नाबालिग कोवासी देवे, सोडी भीमाल और कोरसागुड़ा गांव के विकेश नामक किसान की हत्या की गई है। वहीं सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों को पकड़कर पुलिस इनामी माओवादियों को गिरफ्तार करने का झूठा प्रचार मीडिया में कर रही है।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *