कोरोना पाॅजिटिव मरीजों को होम आईसोलेशेन एवं निजी चिकित्सालयों में भर्ती होने की दी जाएगी सुविधा

 

कोरोना पाॅजिटिव मरीजों को होम आईसोलेशेन एवं निजी चिकित्सालयों में भर्ती होने की दी जाएगी सुविधा

कोर कमेटी की बैठक में कलेक्टर ने की कोरोना वायरस के नियंत्रण उपायों की समीक्षा

गाइड लाइन का पालन नहीं करने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

जगदलपुर बस्तर कलेक्टर रजत बंसल ने कहा कि शासन द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के आधार पर अब कोरोना पाॅजिटिव मरीजों को स्वेच्छा से होम आईसोलेशेन एवं निजी चिकित्सालयों में भर्ती होने की सुविधा प्रदान की जाएगी। कलेक्टर श्री बंसल आज 11 सितम्बर को शासकीय महारानी अस्पताल जगदलपुर में आयोजित कोरोना टास्क फोर्स की बैठक लेकर बस्तर जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार के रोकथाम के उपायों तथा संक्रमित मरीजों के समुचित इलाज एवं उन्हें दी जा रही सुविधाओं की विस्तृत समीक्षा की। कलेक्टर ने कहा कि क्वारेंटाईन, होम आईसोलेशन तथा चिकित्सालयों में भर्ती मरीजों को कोरोना वायरस के रोकथाम के उपायों के अन्तर्गत निर्धारित प्रोटोकाॅल एवं गाइड लाइन का शत प्रतिशत पालन करना अनिवार्य है। उन्होंने निर्धारित प्रोटोकाॅल एवं गाइड लाइन का पालन नहीं करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री इंद्रजीत चन्द्रवाल, अपर कलेक्टर श्री अरविंद एक्का, एडीसनल एसपी श्री ओपी शर्मा, सहायक कलेक्टर सुश्री रेना जमील एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आरके चतुर्वेदी सहित जिले के सभी राजस्व अनुविभागीय अधिकारी एवं संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।
कलेक्टर ने कहा कि जिले में प्रतिदिन कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की संख्या में हो रहे बढ़ोत्तरी को देखते हुए शासकीय मेडिकल काॅलेज अस्पताल डिमरापाल में स्थित कोविड अस्पताल में अब केवल गंभीर मरीजों की ही भर्ती की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पताल में अब कोरोना संक्रमित मरीजों को सीधे नहीं भेजा जाएगा, वहां पर सिर्फ सीवियर और क्रिटिकल मरीजों की भर्ती की जाएगी। जिससे की गंभीर मरीजों की जान बचाई जा सके और संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण रखा जा सके। श्री बंसल ने कहा कि शेष मरीजों को आईसोलेशन सेंटर एवं कोविड केयर सेंटर तथा स्वेच्छा से अनुबंधित निजी चिकित्सालयों एवं होम आईसोलेशन में रखने की व्यवस्था की जाएगी। जहां पर मरीजों को समुचित इलाज एवं अन्य सुविधाएँ प्रदान की जाएगी। कलेक्टर ने मरीजों को होम आईसोलेशन में में रखने के पूर्व उनका समुचित रूप काउंसलिंग कराने के निर्देश दिए। उन्होंने होम आईसोलेशन रखे गए लोगों के लिए केयर टेकर तथा स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी की तैनातगी करने को कहा। श्री बंसल ने कहा कि होम आईसोलेशन में रखे गए लोगों को निर्धारित तिथि तक बिल्कुल भी घर से बाहर निकलने की अनुमति न दी जाए। उनके घर के बाहर स्टीकर चिपकाने के निर्देश भी दिए।

कलेक्टर ने होम आईसोलेशन के लिए निजी अस्पतालों को टाई अप करने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने कहा कि केवल सिमटोमेटिक व्यक्तियों का ही एन्टीजन टेस्ट कराई जाय। उन्होंने जरूरी सुविधाएँ उपलब्ध होने वाले जिले के निजी अस्पतालों को कोरोना पीड़ित मरीजों के इलाज हेतु इंपैनल्ड करने को कहा। कलेक्टर ने कहा कि कोई भी एमबीबीएस डाॅक्टर होम आईसोलेशन के लिए सेवाएं दे सकते हैं। श्री बंसल ने सभी लोगों को सामाजिक दूरी का पालन एवं मास्क तथा सेनेटाईजर का अनिवार्य रूप से उपयोग सुनिश्चित कराने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *