अपहरण के बाद फिरौती मांगने और उसकी हत्या करने के मामले में कोतवाली पुलिस ने चार को किया गिरफ्तार

अपहरण के बाद फिरौती मांगने और उसकी हत्या करने के मामले में कोतवाली पुलिस ने चार को किया गिरफ्तार

जगदलपुर – शहर के एक व्यापारी का अपहरण के बाद फिरौती मांगने और उसकी हत्या करने के मामले में पुलिस को आज बुधवार को कामयाबी मिली है। पुलिस इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पत्रकार वार्ता के दौरान हुआ खुलासा जानकारी देते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओपी शर्मा ने बताया बीते 25 अक्टूबर को अज्ञात लोगों ने कुम्हारपारा निवासी बर्तन व्यापारी संतोष जैन का अपहरण कर लिया था। अपहरण करने के बाद आरोपियों ने व्यापारी के परिजन से 5 लाख रुपये फिरौती की मांग की थी। फिरौती की मांग होने पर परिजन ने आरोपियों तक रुपये भी पहुंचा दिया था। इसके बावजूद जब व्यापारी घर वापस नही पहुंचा तो परिजनों ने कोतवाली थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। इसी दौरान पुलिस को व्यापारी की लाश कोड़ेनार में मिलने की सूचना मिली। लाश मिलने के बाद से ही पुलिस ने मामले को बहुत ही गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू की। जांच के दौरान ही पुलिस ने तकनीकी साक्ष्यों और सीसीटीवी फुटेज की मदद से इस मामले में चार आरोपियों उमेश यादव (42) निवासी संतोषी वार्ड, गुड्डा (50) निवासी शांति नगर, आजमन सेठिया (28) निवासी नियानार और जैकी (32) निवासी गीदम नाका को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने बताया यह सभी आरोपी ट्रक चालक का काम करते है। इन सभी का मृतक के साथ अच्छे सम्बन्ध थे। अभी ट्रक चालक व्यापारी के सामान का परिवहन करने का भी काम करते थे। एक दिन चारों आरोपियों ने रुपयों के लालच में व्यापारी का अपहरण करने का प्लान बनाया। फिर सोची समझी साजिश के तहत 25 अक्टूबर को चारों ने मिलकर व्यापारी का अपहरण कर लिया। इसके बाद आरोपियों ने व्यापारी के परिजन से 5 लाख रुपये उसे छोड़ने के एवज में फिरौती के तौर पर मांग की। फिरौती की रकम मिलने के बाद आरोपियों को शक हुआ कि अगर व्यापारी को छोड़ देंगे तो वह घटना की जानकारी पुलिस को दे देगा। इस डर से आरोपियों ने 26 अक्टूबर की रात व्यापारी का गला दबाकर और धारदार हथियार से गला रेतकर उसकी हत्या कर दी। हत्या करने के बाद आरोपियों ने एक ट्रक में लाश को डालकर कोड़ेनार में फेंक दिया। पुलिस द्वारा कड़ी पूछताछ में सभी आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से घटना में इस्तेमाल किये गए एक ट्रक सीजी 04 एच आई 6728, एक मोटरसाइकिल सीजी 17 ई 3025, स्कूटी सीजी 17 केके 3885, एक स्कूटी सीजी 17 केएल 7073, मृतक के स्कूटी के जले हुए पुर्जे, 2 लाख 80 हजार रुपये नगद और एक धारदार चाकू बरामद किया है। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 302, 364 (क), 201, 120 (बी) , 34 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध करते हुए गिरफ्तार कर लिया है। न्यायालय में पेश कर रिमांड पर जेल भेज दिया गया है

 

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *