पिछले वर्ष राशि जमा कर चुके लोगों को ज्योत जलाने की अनुमति होगी

 

पिछले वर्ष राशि जमा कर चुके लोगों को ज्योत जलाने की अनुमति होगी

ज्योति कलश एवं आवश्यक रस्मों का वर्चुअल दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु एवं आम नागरिक

कलेक्टर ने विभिन्न स्थानों में पहुंचकर लिया दशहरा उत्सव के तैयारियों का जायजा

जगदलपुर, कलेक्टर श्री रजत बंसल के दिशा निर्देशन में बस्तर जिला प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के इस दौर में विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा उत्सव के सफल एवं सुरक्षित आयोजन हेतु व्यापक तैयारियाँ की जा रही है। विभिन्न रस्मों को पूरा करते समय एवं आयोजन के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकथाम हेतु पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित की जा रही है। इसे ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन एवं दशहरा उत्सव समिति के निर्देशानुसार ज्योत जलाने हेतु पिछले वर्ष राशि जमा करने वाले लोगों को ही इस नवरात्रि में ज्योत जलाने की अनुमति दी जाएगी। इस वर्ष श्रद्धालु एवं आम नागरिक ज्योति कलश तथा दशहरा से जुड़े विभिन्न रस्मों का केवल वर्चुअल दर्शन ही कर सकेंगे। कलेक्टर श्री रजत बंसल आज 12 अक्टूबर को दशहरा उत्सव के आयोजन के लिए जगदलपुर शहर में निर्धारित विभिन्न स्थानों में पहुंचकर तैयारियों का जायजा ली एवं अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान अपर कलेक्टर श्री अरविन्द एक्का, आयुक्त नगर निगम श्री प्रेम पटेल, एसडीएम श्री जी.आर. मरकाम के अलावा मांझी, चालकी अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री बंसल दंतेश्वरी मंदिर, सिरहासार भवन एवं मावली मंदिर आदि का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने मौके पर उपस्थित अधिकारियों से विभिन्न रस्मों को संपन्न कराने हेतु बाहर से आने वाले मांझी-चालकी, पुजारी आदि के लिए रूकने के लिए किए जा रहे प्रबंध की जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों को सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने को कहा। इस दौरान कलेक्टर ने मावली मंदिर परिसर में बैठक लेकर आयोजन से जुड़े तैयारियों की समीक्षा भी की। कलेक्टर ने नवरात्रि में माता की आरती के लिए निर्धारित समय की भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए आम लोगों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। महत्वपूर्ण रस्मों एवं आयोजन की लाइव प्रसारण की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। श्री बंसल दंतेश्वरी मंदिर एवं मावली मंदिर में माता का दर्शन कर आशीर्वाद भी लिया।
श्री बंसल पथरागुड़ा के काछनगुड़ी तथा कुम्हडाकोट के रथ चोरी करके रखने वाला स्थान तथा जिया डेरा आदि का भी निरीक्षण किया। उन्होंने एसडीएम श्री मरकाम एवं अधिकारियों से रस्मों को संपन्न कराने हेतु बाहर से आने वाले लोगों के लिए की जा रही व्यवस्थाओं संबंध में जानकारी ली।

Baski Thakur

बस्तर प्रवक्ता समाचार पत्र के प्रधान संपादक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *