अपराध खेलकूद बस्तर ब्रेकिंग राजनीति शिक्षा

संतोष बाफना ने एनएमडीसी स्टील प्लांट नगरनार के समीप पूर्व में प्रस्तावित सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल को शीघ्र बनाने हेतु केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते को मांग पत्र सौंपा

संतोष बाफना ने एनएमडीसी स्टील प्लांट नगरनार के समीप पूर्व में प्रस्तावित सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल को शीघ्र बनाने हेतु केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते को मांग पत्र सौंपा

 

जगदलपुर छत्तीसगढ़ दौरे पर आए केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते से भाजपा नेता एवं पूर्व विधायक संतोष बाफना ने रायपुर में मुलाकात कर एनएमडीसी स्टील प्लांट नगरनार के समीप पूर्व में प्रस्तावित सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल को शीघ्र बनाने हेतु मांग पत्र सौंपकर जनहित में आवश्यक कार्यवाही करने का आग्रह किया।

बाफना ने केन्द्रीय मंत्री को सौंपे अपने मांग पत्र में कहा है कि, एनएमडीसी द्वारा जगदलपुर के समीप नगरनार में 20 हजार करोड़ से भी अधिक की लागत से निर्माणधीन स्टील प्लांट जो अब पूर्णतः की ओर अग्रसर है और स्टील प्लांट के लिए जमीन अधीग्रहण व एमओयू पर हस्ताक्षर के दौरान स्टील प्लांट के समीप ही क्षेत्र के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के लिए सुपर स्पेशिलिटि अस्पताल स्थापित करना तय हुआ था। जिसके पश्चात् पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के दौरान बस्तर के तत्कालीन कलेक्टर मनोहर लाल परस्ते के द्वारा स्टील प्लांट के निकट ही एनएमडीसी को अस्पताल बनाने के लिए वर्ष 2008 में ग्राम कोपागुड़ा के समीप 21 एकड़ जमीन भी स्वीकृत की गई, किन्तु इतने वर्ष बीत जाने के बाद भी एनएमडीसी द्वारा अस्पताल के निर्माण की बात तो दूर, बल्कि इसके आज तक नींव भी नहीं खोदी गई। जिससे क्षेत्र की जनता अपने को ठगा हुआ महसूस करने लगी है। और एनएमडीसी द्वारा संबंधित मामलें को लेकर कोई कार्यवाही न करना एवं मामलें को पूरी तरह से दबा देना कहीं न कहीं जनता के साथ तय किये गए वादे को तोड़ने के समान भी है।

एक तो वैसे भी स्वास्थ्य सुविधाओं के मामलें में बस्तर संभाग क्षेत्र में सुपर स्पेशिलिस्ट चिकित्सक न्यूरोलॉजिस्ट, कार्डियोलॉजिस्ट, नेफ्रोलॉजिस्ट, प्लास्टिक सर्जन, रेडियोलॉजिस्ट की घोर कमी है और स्वास्थ्य व्यवस्था अत्यन्त पिछड़ी स्थिति में है। निर्माणाधीन स्टील प्लांट में हजारों की संख्या में कार्यरत् श्रमिकों के साथ ही एनएमडीसी के अधिकारियों व कर्मचारियों के परिवार भी यहॉ निवासरत् है और इस क्षेत्र की जनता के साथ वो भी बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए विशाखापट्टनम, हैदराबाद जैसे अन्य दूसरे शहरों पर निर्भर हैं।
स्टील प्लांट के समीप एक भी बड़ा अस्पताल न होने पर पूर्व विधायक बाफना ने भविष्य की आशंकाओं पर चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि, यदि किसी रोज संयंत्र में कोई अप्रिय घटना घटित हो गई तो क्या पीड़ितों का ईलाज मौजूदा समय में चिकित्सकों की कमी से जूझ रहे बस्तर के रेफरल सेंटर के भरोसे रहेगा।

इसके अलावा बता दें कि, कुछ दिन पहले पूर्व विधायक संतोष बाफना ने विशाखापट्टनम-किरंदुल नाईट एक्सप्रेस को नियमित करने एवं जगदलपुर-कोलकाता समलेश्वरी एक्सप्रेस के संचालन को लेकर जल्द से जल्द तिथि निर्धारित करने के संबंध केन्द्रीय राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के माध्यम से रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को पत्र लिखकर आग्रह किया था जिसपर केन्द्रीय मंत्री ने भी बाफना के पत्र का हवाला देते हुए क्षेत्र की जनता के लिए इस मामलें को गंभीर बताया है और रेल मंत्री को पत्र लिखकर उन्होंने भी स्थिति की जानकारी दी है। केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री कुलस्ते ने बाफना को आश्वासन देते हुए कहा है कि, सुपर स्पेशिलिटि अस्पताल को लेकर एनएमडीसी के द्वारा जो क्षेत्र की जनता से वादा किया गया था उस पर तत्काल कार्यवाही करने के लिए एनएमडीसी के उच्च अधिकारियों से मामलें की रिपोर्ट तलब की जाएगी एवं आवश्यक कार्यवाही करने हेतु भी आदेशित किया जाएगा। ताकि जनता की दूसरें शहरों पर ईलाज की निर्भरता खत्म हो और उन्हें राहत मिल सके। साथ ही नाईट एक्सप्रेस का नियमित संचालन हो एवं समेलश्वरी एक्सप्रेस भी तिथि जल्द निर्धारित करके उसका भी संचालन नियमित हो सके, इसके केन्द्रीय रेल मंत्री से मिलकर मामलें पर कार्यवाही करने के लिए वह स्वयं आग्रह करेंगे। ऐसा केन्द्रीय राज्य इस्पात मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने पूर्व विधायक बाफना को आश्वासन दिया है। इस मुलाकात के दौरान भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री विकास मरकाम जी भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *